Horror story

Horror story in Hindi चीन की भूत की Bhoot Story [Part 2]

Horror story in Hindi चीन की भूत की कहानी Part 2 इस पोस्ट में आपको चीन की भूत की कहानी Horror story Part 2 को बताने वाला हूं, इससे पहले Part 1 में हमने इस स्टोरी को आपके सामने अच्छे से पेश किया था, अगर आपने Part 1 को नहीं पड़े हैं, तो सबसे पहले Part 1 को पढ़े, जिसमें हमने इस स्टोरी शुरू की कहानी को बिस्तर से बताया था, और उस स्टोरी का यह दूसरा Part हैं, इसमें आपको पहले स्टोरी के बाद आगे क्या क्या हुआ था, जानने को मिलने वाला हैं,

Horror story चीन की भूत Part 2

चीन की भूत Part 1 में हमने बताया था, राधा माधव नाम के एक शख़्स, उसके मामा मातुल से मिलने जाते हैं, उसके बाद वहां पर भूत के बारे में बात होता हैं, ऐसे में मामा उस-को एक घर में सोने के किले कहते हैं, और रात में सोने के बाद उस-को एक सिर मुंडा हुआ भूत दिखता हैं, जिससे वह बहुत ज्यादा डर जाते हैं, उसके बाद भूत वहां से चले जाते हैं, उसके पास सुबह मामा उसके चेहरा देख कर समझ जाते हैं कि उसने रात में भूत देखा हैं, उसके बाद मामा उस-को कहते हैं,

रात में जो भी हुआ हैं उसका पूरा कहानी दिन में बताएं-गे तो उसके बाद आगे क्या हुआ चलिए जानते हैं,

Horror story in Hindi चीन की भूत Part 2

Horror story
Horror story

उस दिन दोपहर में खाना खाने के बाद मामा और भांजा एक जगह में बैठ कर बात करने लगा, मामा राधा माधव को कहने लगा- मैं जिस जगह पर डाक्टरी क्या करता था, वहां की हॉस्पीटल मेरे ही अंडर में था, वहां पर जो बड़े-बड़े ट्रिटमैंट करना होता था वह सब मुझे ही करना होता था, जिसका भी इलाज के लिए जिस्म से बॉडी पार्टस को काटना होता वो मैं खुद अपने हाथों से काटता था, और उन पार्टस को शिशुओं में भरकर एक घर में रख दिया करता था,

रात में जिस घर में आप सो रहे थे, उस घर के अंदर रखे हुए सभी शीशों में जो बॉडी पार्टस हैं,

वह सब मेरे हाथ से कटे हुए बॉडी पार्टस हैं,

चीन के पास बर्मा के अंदर रहने वाले चीन की लोग, मेरे पास इलाज के लिए आता था,

एक बार एक चीन के लोग मेरे हॉस्पीटल में इलाज के लिए आया,

मैने देखा उसका बया हाथ खराब हो गया था, ऐसे में उनका उस हाथ को काटना पड़ेगा, तभी वह जिन्दा रह सकता हैं, नहीं तो वह बचे-गा नहीं, उसके हाथ कनू तक खराब हो चुका हैं, मैने उस-को बताया अगर आपको जिन्दा रहना हैं तो, आपके इस हाथ को काटना पड़ेगा, पहले तो वो राजी नहीं हुआ, फिर बाद में सोचा चलो इसको काट देते हैं, उसके बाद में उस-को बेहोश करके, उसके हाथ को काट दिया, उसके बाद एक कांच की शीशी के अंदर उसके

हाथ को रख दिया, उसके बाद उस चीन के शख़्स को होश आया, हौर्स आने के बाद उसने अपनी कटे हुए हाथ को देखना चाहा,

लेकिन मुझे डर था उसके कटे हुए हाथ को वो देख कर डर जाएगा,

इसलिए मैं उसके कटे हुए हाथ को उसके सामने लाने से मना किया, लेकिन उसने मुझे बताया कि मुझे डर नहीं लगेगा,

मेरे हाथ मेरे पास लेकर आए ऐसे में वह, कटे हुए हाथ,

जो शिशुओं में रखे हुए थे उसके सामने लाया गया,

कटे हुए हाथ को देखकर लंबी सांस लिया और उसके आंख से आंसू निकलने लगा,

उसके बाद से जितना भी दिन वह हॉस्पीटल में रहा, हर टाइम कटे हुए हाथ के कांच को अपने पास ही रखता था, दिन भर उस-को देखते ही रहता था, जब वह ठीक हो गया, उसकी घर में जाने का टाइम हुआ तो, मैने उस-को कहा कि आप अपने कटे हुए हाथ को मेरे पास रखकर जाइये मैं इसको संभाल कर रखूंगा, यह सुनकर उस चीनी व्यक्ति ने मुझे कहा मुझे माफ करें, यह हाथ में आपको नहीं दे सकता हूं,

मैं मरने के बाद यह हाथ मेरे साथ दफन देगा जायेगा, मैं उनको बताया कि- आपके पास यह आज सुरक्षित नहीं रहेगा,

हमारे पास इसको सुरक्षित रखने के लिए बहुत सारी चीज हैं, हम इस हाथ को सुरक्षित रख सकते हैं,

मेरे बात सुनने पर उनको मेरे बात पर यकीन आया, उन्हों-ने बताया मेरे हाथ आपके पास आप रख सकते हैं,

लेकिन एक शर्त पर,

मैं मरने के बाद मेरे घर-वाले मेरे रिश्तेदार आपके पास आएं-गे, इस हाथ को लेने के लिए,

आप तब उनको मेरा हाथ वापस दे दीजिए-गा – Horror story

Horror stories
Horror story

इससे वह मेरे साथ मेरे हाथ को कब्र पर रख सकेंगे, मैने कहा ठीक हैं, आपके घर वाले यह हाथ लेने आने पर, हाथ में उनको वापस दे दूँगा, मैने उनसे वादा किया, उसके बाद मैने उसका हाथ, अपने घर में रखे हुए दूसरे शीशों के साथ रख दिया, लेकिन मैं जिस घर में उसकी हाथ को रखा था, और मैं खुद जिस घर में रहता था,

वह लकड़ी से बना हुआ था, कुछ दिन के बाद उस घर में आग लग गया,

जिससे बहुत सारे शीशों नष्ट हो गया, और उसमें से वो शीशी भी नष्ट हो गया जिस पर उस चीन के आदमी का हाथ रखा हुआ था,

उसके बाद मैं भूल गया, मुझे याद नहीं था 5 साल के बाद, दो चीन की लोग मेरे पास आया

और उस व्यक्ति का नाम बताएं, और कहां

जिनका हाथ आपके पास हैं – hindi horror story

कल उनका मौत हो गया हैं, उनका हाथ वापस दीजिए उनके हाथ उनके कब्र में उनके साथ रखे जाएंगे, इसलिए आपके पास आया हूं, मरने से पहले उसने हमें बार-बार बताया हैं कि, वह हाथ लेकर आकर उसके साथ कब्र में रखे, इसलिए हम आपके पास वह हाथ लेने के लिए आए हैं, यह सुनने के बाद मेरे सर पर ऐसा हुआ कि मानो मेरे सर पर बिजली गिरा हैं, उनको मैने वादा किया था उनके हाथ उनके परिवार को वापस करेंगे,

लेकिन उनका हाथ तो जल गया था ऐसे में हम उनको हाथ कैसे वापस करेंगे,

फिर में उन दोनों को उस रात में घटी वाकिया सुनाएं, वाकिया सुनने के बाद,

दोनों मायूस होकर वापस लौट गया, उस दिन रात में मैं सो गया था,

घर में थोड़ा-थोड़ा रोशनी जल रहा था, रात में करीब 12:00 बजे के बाद किसी ने मेरे सर की बाल पकड़ कर उठाया,

मैने नींद से उठ कर देखा, जो आदमी मुझे बाल पकड़ के नींद से उठाया हैं,

ये शख़्स वही चीन की आदमी हैं, जिनका मैने हाथ कटा था,

वो भूत बन गागा था और वह मेरे बिस्तर के बाजू में खड़े थे

यह देख कर मैं बहुत ज्यादा डर गया, मैं बात करना चाहता था लेकिन मेरे मुंह से कोई आवाज नहीं निकाल रहा था, खाली गो गो आवाज निकल रहा था, कुछ देर मेरे बाजू में खड़े रहा उसका चेहरा बहुत ज्यादा गुस्से में भरा हुआ था, फिर अचानक गायब हो गया, उसके बाद बाजू के घर में रखे हुए शीशों की ठन.. ठन.. आवाज आने लगा, बाद में मुझे पता चला वह सारे शीशों को एक-एक करके देख रहा था,

वह अपने कटे हुए हाथ को ढूंढ रहा था,

उस घर में उसका हाथ नहीं मिलने से दूसरे घरों में भी ढूंढता रहा,

हर एक चीज की तलाशी करता था फिर सुबह होने पर वह चले गए, तब-से लेकर बहुत दिन तक ऐसा ही करते रहा,

वह हर रोज रात को आता और मेरे सिर की बाल पकड़-कर उठा-ता था,

और अपना हाथ दिखा-ता था फिर सभी घर की तलाशी करता था,

हर रोज रात में मेरे सिर के बाल पकड़-कर उठाने से,

मुझे बहुत ज्यादा दर्द होता था, इसलिए मैं सर को मुंडा लिए,

उसके बाद से वह चीन की भूत मेरे हाथ पकड़-कर उठती हैं,

लेकिन कुछ भी हो तब से लेकर अब तक मैं, और तुम्हारी मामी इस मुसीबत में पड़े हुए हैं,

मैं बहुत बार अपना काम छोड़कर दूसरे जगह जाकर रहने का प्लानिंग भी किया,

लेकिन जहां भी जाता था वहां पर वह भूत आकर मुझे उठा-ता था,

और अब शिष्य नहीं मिलता तो नहीं मिलने की वजह से, वो और भी ज्यादा गुस्से में आ जाता था,

और घर में रखे हुए सभी चीज को तोड़फोड़ करता था,

इस मुसीबत से बचने के लिए मैने हर तरह की कोशिश किया,

तंत्र, मंत्र, ताबीज, भूत नमूना, इस तरह की ओर भी जितना नियम हैं उसका पालन किया लेकिन,

ये सब कुछ भी करने पर भी वह हर रोज आ ही जाता हैं,

अब इस चीन की भूत के परेशानी से मुझे खाली मौत ही बचा सकता हैं, और रोने लगा,

मातुल मामा की यह सभी बात राधा माधव ने गौर से सुना,

सुनने के बाद राधा माधव मामा को भरोसा दिला-या कि वह,

मामा को इस परिस्थिति से बचाएगा उस चीन की भूत से

इससे आगे की कहानी मैं अगली पाठ में बताने वाला हूं,

इस तरह की और Horror Story के लिए www.newstorylife.com से बने रहें Thanks…!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top