Horror story in Hindi

Story Horror In Hindi चीन की भूत की Bhoot Story [Part 1]

Horror story in Hindi आज में आपको एक बोहथ जबरदस्त Horror Story बताने वाला हूं, जो आपको बहुत ही अच्छा लगेगा, इस पोस्ट में आपसे जो स्टोरी शेयर करने वाला हूं, वो एक चीन की भूत की स्टोरी हैं जो, आपको बहुत ही अच्छा लगेगा और जिसको आप बहुत ही पसंद करेंगे तो चलिए जानते हैं चीन की एक Horror स्टोरी, चीन की भूत

Horror story in Hindi
Horror story in Hindi

एक चीन की भूत की स्टोरी Horror story in Hindi

राधामाधव नाम के एक आदमी अपने मामा से मुलाकात करने के लिए मामा के घर आया हैं मामा का नाम मातुल था जो कि किसी जगह का डॉक्टर था, और मामा हाथों के इलाज के उपचार में विशेष माहिर था, अभी उनका ज्यादा उमर होने से वह अपनी काम को चोर कर अपने देश में आया हुआ था, जब वे पहली बार देश आए, तो उन्हों-ने तीर्थयात्रा करने में कुछ समय बिता-या, अब वह कोलकाता घर आ गया हैं,

राधामधाब वहां उनसे मिलने आया हैं, राधामाधव खुद भी एक पारित चिकित्सक हैं, कोलकाता में नहीं, वह कहीं और एक डॉक्टर था, उन्होंने अपने मामी को प्रणाम किया, और देखा कि मामा, और मामी, दोनों का शरीर थका हुआ था, राधामाधव ने उन दोनों के चेहरे को देखा तो, ऐसा लगता था की दोनों बोहथ नर्वस हैं, दोनों हमेशा बहुत नर्वस रहते हैं,

एक डर या चिंता की झलक उनके चेहरे पर देखने को मिलता हैं, यह भी देखा कि उसके मामा का सिर मुंडा हुआ था, जिसके सिर पर बाल नहीं थे, उन्हों-ने मातुल से यानी मामा से पूछा – ‘क्या आप बर्मा में जिस जगह पर थे, वहां की जलवायु अच्छी नहीं थी ? आप दोनों बहुत थके हुए दिख ते हैं, ऐसा लगता हैं की आपके शरीर पर कोई क्रोध हैं,

मातुल मामा ने उत्तर दिया – “हमारे शरीर में कोई क्रोध नहीं हैं, उसने शब्दों को दबाने की कोशिश की

अगले दिन मामा ने राधामाधव से पूछा – राधामाधव, जिस स्थान पर आप डॉक्टर हैं वहाँ दो पैसे हो जाता हैं ?

राधामधाब ने कहा, “पहले वहा अच्छा पैसा था अच्छा इनकम हो जाता था, लेकिन जब-से वहा पर एक बाबा आया हैं

तब-से मेरे लिए बोहथ मुश्किल हो गया हैं, तब से इनकम बोहथ काम हो गया हैं,

मातुल मामा ने पूछा – बाबा कैसा ? Horror story in Hindi

राधामाधव ने बताया – गि-रवा कपड़ा पहन कर एक इंसान आया हैं, जो लोगों को ठीक करने के लिए, कभी डाक्टरी दवाई, तो कभी होम्योपैथी दवाई, तो कभी कबीराज़ी तो कभी हकीमी दवाई, तो कभी तंत्र मंत्र करते हैं, तो कभी लोगों को अलग-अलग भूतों की बातें बताते रहते हैं, और कहते हैं कि उनसे भूत भागना आता हैं, मरे हुए लोगों के आत्माओं को बुलाना आता हैं, और जब से यह बाबा यहां पर आए हैं तब से मेरा इनकम कम हो गया हैं,

मातुल मामा ने पूछा – वह इंसान जो भूत के बारे में बताते हैं वह सही हैं या गलत ? राधामाधव ने बताया – पूरा गलत, भूत क्या हैं ? भूत नाम की कोई चीज ही नहीं होता हैं मातुल मामा ने कहा – अच्छा, “अगर मैं आपको दिखाऊ ? राधा माधव ने बताया भूत देखने के लिए में रात में श्मशान मैं बहुत टाइम गुजारा

एक-दो दिन नहीं 3 साल तक मैं कोशिश किया

हर रात को मैं श्मशान में रहता था लेकिन कभी भी मुझे भूत नहीं दिखाई दिया हैं,

यह सब भूत की कहानी गलत हैं भूत नाम से दुनिया में कोई चीज नहीं होता हैं,

मातुल मामा ने पूछा –

अगर मैं आपको भूत दिखाऊ तो ?

Horror story in Hindi
Horror story in Hindi


राधा माधव ने बताया- अगर ऐसा हुआ तो मैं सारी जिंदगी आपके आभारी रहूंगा मुझे भूत प्रेत पर विश्वास नहीं हैं, और अगर आपने मुझे भूत देखा दिया तो यह मेरा गलतफहमी दूर हो जाएगा, मातुल मामा ने बताया- नहीं तुम छोटे बच्चे हो इसलिए ऐसी बात कर रहे हो जाने दो नहीं तो आखिर में एक मुसीबत मैं पर आजाओगे,

राधा माधव मामा को जोर जबरदस्ती करने लगा, और कहने लगा अगर आप मुझे भूत दिखा सकते हो तो दिखाऊ, मैं आपको छोडूंगा नहीं जब तक आप मुझे भूत ना दिखाते हो, राधा माधव ने कहां- आप को डरने की कोई बात नहीं हैं, मुझे डर नहीं लगेगा, आप मुझे दिखाई यह बात सुनने के बाद,

मातुल ने देखा कि यह भांजा छोड़ने वाला नहीं हैं, तो मातुल मामा ने कहा चलो मेरे साथ,

उसके बाद राधा माधव को लेकर एक घर के पास जाकर घर का लौक खोला

घर के अंदर जाकर देखा घर की दीवार में लकड़ी से बना हुआ अलमारी हैं

जिसके ऊपर बहुत सारे छोटे बड़े कांच की शीशा रखा हुआ हैं,

कांच के शीशों के अंदर लोगों की बॉडी का पार्टस रखे हुए हैं

किसी कांच के अंदर किसी का आंख हैं किसी का कांच के अंदर किसी का हाथ हैं कीसी शीशा के अंदर किसी का अंगूठा हैं इस तरह से सभी कांच के अंदर मनुष्य की बॉडी पार्टस रखे हुए हैं, मातुल मामा ने राधामाधव को कहां- यह सभी पार्टस वो हैं जिन-को मैं अपने हाथ से मरीजों की जिस्म से खुद कांटा हूं, और उनको इन सभी शीशों में भरकर अच्छे से सुरक्षित रखा हूं, इसके अलावा और भी कुछ पार्षद थे जो घर में आग लगने से जल गया था, और वह पार्टस नष्ट हो गया था, और घर के अंदर एक चारपाई थे,

मातुल मामा ने कहा यह चारपाई के ऊपर मैं आपका सोने की बंद बस कर देता हूं,

तो क्या आप इस घर में अकेले सो सकते हैं ? राधामाधव ने बताया हां मैं सो सकता हूं मुझे डर नहीं लगता हैं,

यह कहने पर मातुल मामा ने चारपाई के ऊपर अच्छे से बिस्तर बिछाई दिया,

और घर से एक लालटेन जला के लाया और कहां रात में अंधेरे में रहने की जरूरत नहीं हैं,

राधा माधव ने बताया जिस घर में मैं खुशी-खुशी रहूंगा,

मातुल मामा ने कहा- ठीक हैं रात में तुम क्या देखो-गे, और क्या नहीं देखो-गे, वह बात कल सुबह ही करेंगे,

ये कहकर मामा ने कहा अगर जरूरत हो तो आवाज देना, और चले गए उसके बाद राधामाधाब ने,

घर के सभी खिड़की बंद हैं क्या अच्छे से चेक कर लिया,

उसके बाद दरवाजा भी लगा दिया लालटेन की रोशनी को कम कर दिया और सो गया, लेकिन घर के सभी चीज अच्छे से देख रहे थे, कुछ देर के बाद उनको नींद आ गया, कुछ देर के बाद घर के अंदर ठाँ ठाँ करके आवाज आ रहा था तो उनका नींद टूट गया, और उसने जिस तरफ से आवाज आ रहे था उस तरफ देखा, एक इंसान अलमारी की तरफ शिशुओं में कुछ ढूंढ रहा था, ऐसे में राधा माधव सोचने लगा कि मैं तो घर के दरवाजा बंद कर दिया था, सभी खिड़की भी बंद थे ऐसे में इंसान घर में आया कैसे,

यह तो इंसान नहीं हैं, भूत ही हैं उनके मन में यकीन आ गया के यह भूत हैं, अब उनको डर लगने लगा, और उनके रोंगटे खड़े होने लगे, ऐसे में वह बहुत ज्यादा डर गया, उसके जिस्म से बहुत पसीना निकल रहा था, जोर से चिल्लाने की और मामा को बुलाने की सोच रहा था, ऐसे में उन्हें याद आया, अगर मैं आवाज देता हूं, तो सभी मुझे डरपोक कहें-गे, इसलिए उन्हों-ने हिम्मत जुटाई और सोचा, चाहे कुछ भी हो जाए में अगर मर भी जाएं तो मैं आवाज नहीं दूँगा,

यह कहने के बाद अपने मन को शांत कराया और चुपचाप देखने लगा कि भूत क्या कर रहा हैं, भूत अलमारी में रखें सभी शीशों को एक-एक करके देख रहा था, राधामाधव ने देखा उस भूत के सर पर कोई बाल नहीं था, उनका सिर मुंडा हुआ था, यह देख कर राधामाधव को यकीन आ गया कि यह भूत इस देश का नहीं हैं

चीन का भूत हैं, भूत सभी अलमारियों में रखे शीशे को देख रहा था, और उन-में से कुछ ढूंढ रहा था,

ऐसे में उनके चेहरे पर मायूसी दिखाई दिया, और उनकी आंखों से आंसू टपक-ने लगा,

इतने में भूत राधा मदद के सामने आ गया – horror story

भूत की तड़प राधा माधव नजर उठा कर देखा तो, उनकी एक हाथ नहीं था, उसका एक हाथ कटे हुए थे, ऐसे में राधामाधव को बहुत डर लगने लगा,

उनके गला सूख-ने लगा, ऐसे में वह सोचा कि अब वह बचे-गा नहीं,

भूत उसका हाथ काट लेगा, ऐसे में वो आवाज देने की सोच रहे थे,

सोच रहे थे कि मैं थोड़ा जोर से चिल्लाता हूं,

ताकि मामा आकर मुझे बचाऊ, इतने में वह भूत गायब हो गया, उसके जान पे जान आया,

उसके बाद उस रात में और कुछ नहीं हुआ, सुबह होने पर मामा उनसे मिलने आया,

आकर देखा राधामाधव के चेहरा पूरा सूखे हुए हैं, वह बहुत डरे हुए थे,

मामा कहने लगा आपके चेहरा देखकर मैं समझ सकता हूं, आपने रात में भूत देखे हैं, चलो कोई बात नहीं,

आज दिन में इस घटना के बारे में पूरे विस्तार से आपको बताऊंगा,

Friend इससे आगे की कहानी अगले पोस्ट पर बताऊंगा आगे की कहानी और भी बहुत खतरनाक हैं,

ये Horror hindi story आपको कैसा लगा हमें कॉमेंट कर जरूर बताएं

इस तरह की और Horror Story के लिए www.newstorylife.com से बने रहें Thanks…!

Scroll to Top